सुपरस्टार राजेंद्र कुमार कभी नहीं चाहते थे कि उनका बेटा एक एक्टर बने , लेकिन फिर बेटे की जिद के आगे उन्हें झुकना ही पड़ा : देखे Photos

सुपरस्टार राजेंद्र कुमार कभी नहीं चाहते थे कि उनका बेटा एक एक्टर बने , लेकिन फिर बेटे की जिद के आगे उन्हें झुकना ही पड़ा : देखे Photos

बॉलीवुड इंडस्ट्री में आज कई स्टार्स किड हैं, जो आज सफलता के अलग मुकाम पर हैं। आलिया भट्ट से लेकर सारा अली खान, वरुण धवन तक कई तो ऐसे स्टारिकड हैं इंडस्ट्री पर आज राज कर रहे हैं। वहीं, कई ऐसे भी स्टार किड्स हैं जो बीतते समय के साथ फिल्म दुनिया से गायब होते गए।

आज आपको हम एक ऐसे ही स्टार किड के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके पिता अपने दौर के सुपरस्टार थे। उन्हें उस दौर में जुबली स्टार कहा जाता था। हम बात कर रहे हैं राजेंद्र कुमार के बेट कुमार गौरव हैं।

बता दे की कुमार गौरव ने जब इंडस्ट्री में कदम रखा और उनकी पहली फिल्म रिलीज हुई, ये सुपर डुपर हिट साबित हुई थी। उनकी पहली फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर तहलका मचा दिया था। कुमार गौरव की फिल्म का कलेक्शन देखकर सबने ये मान लिया था कि वह भी अपने पिता राजेंद्र कुमार की ही तरह एक बड़े स्टार बनेंगे, लेकिन, सब लोगों की सोच के विपरीत हुआ, क्योंकि किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।

ये भी पढ़ें :बेहद फिल्मी है रामायण के सीता की लव स्टोरी,ऐड के जरिए शुरू हुई थी प्रेम कहानी,जाने कैसे हुई मुकम्मल

कुमार गौरव ने 1981 में फिल्म ‘लव स्टोरी’ से बॉलीवुड डेब्यू किया था। इस फिल्म में उनके साथ विजेयता पंडित नजर आई थीं। यह फिल्म विजेयता की भी डेब्यू फिल्म थी, जो सुपर हिट साबित हुई।

बता दे की इसके बाद आईं कुमार गौरव की ऑल राउंडर, जन्म, रोमांस लवर्स और नाम जैसी फिल्में कुछ खास कमाल नहीं कर पाईं। नतीजन धीरे-धीरे कुमार गौरव फिल्मों से गायब होने लगे।

हालांकि, कुमार गौरव के पिता यानी राजेंद्र कुमार भी उनके फिल्मों में आने के पक्ष में नहीं थे। जब विदेश से अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद घर लौटे कुमार गौरव ने अपने सुपरस्टार पिता से कहा कि वह हीरो बनना चाहते हैं तो राजेंद्र कुमार ने उनके सामने एक शर्त रख दी। राजेंद्र कुमार का कहना था कि – ‘पहले तुम्हे स्क्रीन टेस्ट देना होगा, तुम अगर इसमें पास होते हो तो मैं तुम्हारे लिए खुद फिल्म प्रोड्यूस करूंगा और अगर नहीं हुए तो तुम्हें वो करना होगा, जो मैं कहूंगा। बेटे ने शर्त मान ली और स्क्रीन टेस्ट दिया, लेकिन कुमार गौरव स्क्रीन टेस्ट में फेल हो गए।

बेटे का स्क्रीन टेस्ट देखकर राजेंद्र कुमार कहते हैं कि- ‘तुम हीरो नहीं बन सकते। स्क्रीन टेस्ट में फेल होने के बाद कुमार गौरव ने राज कपूर को ज्वॉइन कर लिया। उन्होंने बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर ‘सत्यम शिवम सुंदरम’ में राज कपूर को असिस्ट किया, लेकिन, उनके दिमाग से एक्टर बनने का कीड़ा नहीं गया। स्टारकिड ने जिद पकड़ ली कि वह एक्टर ही बनेंगे। उन्होंने फिर अपने पिता से कहा कि ‘मुझे एक्टर बनना है।

बेटे की जिद के आगे परेशान राजेंद्र कुमार ने फिर बेटे के आगे वही स्क्रीन टेस्ट वाली शर्त रखी। इस बार कुमार गौरव का स्क्रीन टेस्ट RK स्टूडियो में हुआ, जहां राज कपूर को अपने सामने देखकर कुमार थोड़ा नर्वस हो गए।

बता दे की परफॉर्म करना तो दूर, वह कुछ बोल ही नहीं पाए। राजेंद्र भी वहीं मौजूद थे, जो बेटे को देखकर गुस्से से भर उठे। वह कहते हैं – राज कपूर जैसी शख्सियत के साथ काम करने के बाद भी तुम फिसड्डी ही रह गए। तुम एक्टर बनने के लायक नहीं हो।

लेकिन, राज कपूर की सलाह पर राजेंद्र ने अपने बेटे कुमार गौरव को रोशन तनेजा की एक्टिंग स्कूल भेज दिया। 6 महीने एक्टिंग सीखने के बाद कुमार वापस लौटे, राजेंद्र ने उनके लिए एक फिल्म साइन की हुई थी। फिल्म थी लव स्टोरी, जो उस समय बड़ी हिट साबित हुई,लेकिन, इसके बाद की उनकी कोई फिल्म नहीं चली।

बता दे की जब सबने कुमार गौरव को अपनी फिल्म में लेने से मना कर दिया, राजेंद्र कुमार ने अपना बंगला गिरवी रखकर बेटे के लिए फिल्म बनाई, लेकिन, ये फिल्म भी नहीं चल पाई। कुमार आखिरी बार साल 2009 में एक फिल्म में दिखाई दिए थे, इसके बाद उन्होंने फिल्में छोड़ बिजनेस का रुख कर लिया और वह सोशल मीडिया से भी दूर ही रहते हैं।

ये भी पढ़ें :मलिंगा से लेकर मेंडिस तक, बेहद खूबसूरत हैं इन श्रीलंकाई क्रिकेटर्स की वाइफ, तस्वीरें देख हो जाएंगे मदहोश!

Nency Saliya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *