Indian Citizenship : विदेशी नागरिक को कैसे मिलती है भारत में नागरिकता? जानें क्या है नियम?

Indian Citizenship : विदेशी नागरिक को कैसे मिलती है भारत में नागरिकता? जानें क्या है नियम?

Indian Citizenship : भारत में विदेशी नागरिक को भारतीय नागरिकता प्राप्त करने के लिए कई प्रक्रियाएं होती हैं। नागरिकता प्राप्ति की प्रक्रिया निम्नलिखित तरीके से हो सकती है:

  1. विवाह के माध्यम से: यदि किसी विदेशी नागरिक ने किसी भारतीय नागरिक से शादी की है, तो वह भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन कर सकता है। इस प्रक्रिया को विवाह से संबंधित निर्दिष्ट नियमों के साथ पूरा करना होता है।
  2. विचारात्मक संबंध से: यदि किसी विदेशी नागरिक का जन्म किसी भारतीय माता-पिता के पास हुआ है, तो वह विचारात्मक तरीके से भारतीय नागरिकता प्राप्त कर सकता है।
  3. आपातकालीन नागरिकता: कुछ विशेष परिस्थितियों में, विदेशी नागरिक को भारतीय नागरिकता आपातकालीन आवश्यकता के तहत भी प्राप्त की जा सकती है। इसके लिए निर्दिष्ट प्रक्रिया होती है जिसका पालन करना होता है।
  4. विशेष विचारात्मक आवश्यकता के तहत: अन्य कुछ विशेष परिस्थितियों के तहत भी विदेशी नागरिक को भारतीय नागरिकता प्राप्त करने का मौका मिल सकता है। इसके लिए नियमों का पालन करना होता है।

यदि कोई विदेशी नागरिक भारतीय नागरिकता प्राप्त करने के इच्छुक है,  Indian Citizenship  तो वह स्थानीय नागरिकता अधिकारी या भारतीय राज्य के नागरिकता और विदेश मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकता है और उचित प्रक्रिया का पालन कर सकता है।

कृपया ध्यान दें कि नागरिकता की प्राप्ति की प्रक्रिया और नियम बदल सकते हैं, इसलिए व्यक्तिगत स्तर पर स्थानीय नागरिकता अधिकारी से सत्यापित करना हमेशा अच्छा होता है।

Indian Citizenship होने का क्या है शर्त ?

जो बच्चे भारत में पैदा होते हैं वह एक भारतीय नागरिक होते हैं. दरअसल 1 जुलाई 1987 से पहले  Indian Citizenship  भारत यह जन्मे बच्चों को नागरिकता पाने बहुत सरल सा नियम था. लेकिन अब भारत में जन्मे बच्चों के माता-पिता अगर भारतीय है तो ऐसे में उन्हें भारतीय नागरिक की उपाधि मिल जाती है. लेकिन अगर कोई बच्चों के माता या आपके पिता विदेशी हैं, तो उस बच्चे को भारत की नागरिकता इतने आसानी से नहीं मिलती है.

ऐसे लें सकते है Indian Citizenship

बता दे की 26 जनवरी 1950 के बाद और 10 दिसंबर 1992 से पहले विदेश में भी  Indian Citizenship  जन्मे बच्चों को भारतीय नागरिक के रूप में देखा जाता था. लेकिन इसके लिए एक शर्त था कि अगर बच्चे के पिता के पास भारत की नागरिकता है तभी. हालांकि 10 दिसंबर 1992 के बाद भारत में जन्म लेने वाले सभी बच्चों को भारत का नागरिक माना जाता था अगर उसे बच्चों के माता-पिता के पास भारत की नागरिकता है तो.

रजिस्ट्रेशन कर पा सकते हैं भारत की नागरिकता

अगर आप भारत की नागरिकता हासिल करना चाहते हैं. तो कुछ नियमों के मुताबिक आप Indian Citizenship  रजिस्ट्रेशन करके भारत की नागरिकता (Indian Citizenship) हासिल कर सकते हैं. लेकिन नियम के मुताबिक हुआ व्यक्ति भारत में करीब 7 साल तक सामान्य तौर पर रहता हो और साथ में किसी भारतीय से विवाह किया हो.

क्या है सामान्य नागरिकता?

ऐसे विदेशी व्यक्ति जो इनको भारतीय नागरिकता का सर्टिफिकेट नहीं दिया जा सकता है. तो उन्हें  Indian Citizenship  उनके चरित्र और भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में लिखी गई भाषा की पर्याप्त जानकारी हो तो वह आसानी से भारत के नागरिकता हासिल कर सकते हैं. दरअसल यह नागरिकता नेचुरल सजेशन के माध्यम से दी जाती है, कई बार कानूनी तरीके से आए लोग भारत में रहने लगते हैं.

यह भी पढ़े:

Nency Saliya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *