ठंड की कड़कड़ाती रात में निवस्त्र दिखें अघोरी बाबा, राम जन्म भूमि पर आंसुओं से छलकाया अपना दर्द

गंगा आरती के लिए आए अघोरी साधु

बिहार के कलेक्ट्रेट घाट पर राजधानी पटना में विशेष गंगा आरती का आयोजन हुआ, जिसे बनारस से एक अघोरी साधु ने देखने के लिए आए हुए थे।

ठंड की रात में निर्वस्त्र बैठे अघोरी बाबा

पूरे शरीर में भभूत लपेटे, गले में कंकाल और रुद्राक्ष की माला पहने, अघोरी बाबा ने कड़ाके की ठंड में निर्वस्त्र जमीन पर बैठकर गंगा आरती में मग्न हो गए।

बिहार ने पूरे संसार को मोक्ष दिया

बाबा ने बताया कि बनारस का रहने वाला हूं, लेकिन बिहार से खास लगाव है, क्योंकि यहां ने पूरे संसार को मोक्ष दिया है।

अयोध्या में महा आनंद का क्षण

राम मंदिर के निर्माण के बाद, अयोध्या में महा आनंद का क्षण है। रामलला के विराजमान होने की तैयारी चल रही है।

22 जनवरी: रामलला की प्राण प्रतिष्ठा

22 जनवरी को नवनिर्मित राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होगी। इस अद्भुत क्षण को आंखों से देखने का इंतजार है।

बिहार से आए अघोरी बाबा का कहना

रामलला के मंदिर को लेकर बनारस से आए अघोरी बाबा ने कहा, 'इससे अद्भुत पल कोई और नहीं हो सकता है।'

रामलला का भव्य मंदिर

रामलला के मंदिर में सनातन धर्म की छवि को उकेरा गया है, और इसे लेकर बिहार के लोगों में भी खूब उत्साह देखा जा रहा है।

22 जनवरी को रामलला का भव्य और दिव्य मंदिर में विराजमान होने का दिन है, जिसे सभी लोग अपनी आंखों से देखना चाहते हैं।

मंदिर में रामलला का विराजमान 

भव्य निर्माण के बाद हर्ष की लहर

राम मंदिर के निर्माण के बाद पूरे अयोध्या में हर्ष की लहर है, और इस अत्यंत महत्वपूर्ण क्षण की प्रतीक्षा देशभर में है।