Ram Mandir Prana Pratishtha: प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में सेना के Helicopter से होगी पुष्प वर्षा

Ram Mandir Prana Pratishtha: प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में सेना के Helicopter से होगी पुष्प वर्षा

Ram Mandir Prana Pratishtha: अयोध्या की सड़कों से होते हुए जिन-जिन गलियों से रास्तों से सड़कों से आप आगे की ओर बढ़ते हुए चले जाएंगे. रामम अयोध्या के बहुत सारे रंग पाएंगे ये रंग जो कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक vikhati है. ये रंग जो वंटज्ञा्या क्षेत्र से लेकर शहरों तक महसूस की जाती है वही रंग राम के रंग इस वक्त समूची अयोध्या नगरी में देखने को मिल रहे हैं.

श्वेता एक बार फिर से आप करते हुए आपकी जहां पर मौजूदगी है वहां पर अभी का क्या माहौल. क्योंकि सुबहस कड़ा की ठंड पड़ रही्या में लेकिन लोगों में भक्ति की जो गर्मी है वो उसका तापमान लगातार बढ़ता हुआ चला जा रहा है. रामम पूराा का पूरा माहौल रहता है.

Ram Mandir Prana Pratishtha
Ram Mandir Prana Pratishtha

Ram Mandir Prana Pratishtha चित्र मेरे ऊपर बस लागू नहीं होता है. बाकी सब लोगों पर मुझे लागू होता है लगता है क्योंकि ठंड वाकई बहुत अधिक है आज. और रोड को अगर हम देखेंगे तो वो गीलापन देख कर समझ में ए सकता है की हवा में कितनी होगी. लेकिन देखें ये सब जो यहां पर नृत्य कर रहे हैं. यायोध का ही नृत्य हैं जो यहां प्रस्तुत कर रहे हैं.

यह आराम से छोटी-छोटी टी-शर्ट्स में खड़े होकर यहां नृत्य कर रहे हैं लगातार भगवान श्री राम के लिए और अयोध्या लग की अपनी प्र रही.मैन में रखते थे लेकिन प्रत्यक्ष हमें उन चीजों का सामना नहीं करना पड़ता था. ये वो नगरी है, उस नगरी के लोग हैं जो प्रतीक्षा अनवरत करते रहे और इस भरोसे के साथ करते रहे कि हां रामलला आएंगे.

अयोध्या और आज की सुबह आ गई, आज की समय आ गई जहां पर यह श के साथ यह नृत्य कर रहे हैं और उस भरोसे भर इतरा कर नृत्य कर रहे हैं कि हम रामलला के स्वागत के लिए यहां पर खड़े हैं, यही पर स्थापित है. यहां से हम डिगे नहीं चाहे कितने भी उपेक्षित वर्षों, वर्षों, सदियों, सदियों तक क्यों ना रही हो. लेकिन आज जोपक्ष का अंतिम दिन है.

कोई भी पूरी दुनिया में ऐसा नहीं है कि दृष्टि फिर सकेगा. अयोध्या नगरी को अगर हमेशा ये कहा जाता है की वैटिकन को लेकर इतनी चर्चा हो जाती थी पूरीरी दुनिया में लेकिन वटिकन से कहीं अधिक आगे जाकर विश्व की सांस्कृतिक राजधानी बनने का एक बनने की शक्ति है इस नगरी में और पूरी दुनिया का मार्गदर्शन करने की क्षमता है.

इस नगरी में श्री राम को यूं ही राष्ट्र नहीं कहा जाता है, संपूर्ण राष्ट्र नहीं कहा जाता है और पुरी दुनिया में यूं ही नहीं फैले हैं श्री राम के दिशान, अयोध्या नगरी के निशान. और इसीलिए आप इतराते हुए नत्य करते हुए आप सबको चाहे यहां पर अयोध्या का नृत्य देखें या फिर कुछ दूर आगे मटकी अपने सरम पर रखें. महिलाओं का जि्य देखि हर तरफ अयोध्या नगरी वैसी ही दिख रही है.

Ram Mandir Prana Pratishtha

सर्वच्च समावेशी समाज के अलग-अलग रंगों को समिटकर यह बेटियां बचिया के सरसद्ध कर रही हैं. इनके तस्वीरें आपके सामने है. अपनी भावनाओं का प्रकटीकरण लोगों की ओर से किया जा रहा है. सुंदर यह दृश्य है. सुंदर राम जी का गाना यहां पर चल रहा है. राम आएंगे तो अंगना सजाऊंगी और यकीनन मंदिर बनने के बाद भारत के सांस्कृतिक और सामाजिक मूल्यों के स्थापनान क्या अलग तौर पर दिखाई देगी? भारतीय मूल्यों का क्या खृत सं बनेगा?

यह तस्वीरें आप तक हम पाते रहेंगे. श्रद्धा हमारेल साथ जुड़े रहे संजय शर्मा का र. कर लेते हैं सं. पास आते हुए आपके भाव क्या दिन चढ़ने के साथ वहां पर बढ़ते हुए चले जा रहे हैं. अभी की तस्वीरें वहां की क्या बोल रही हैं श्री राम के लिए.

Ram Mandir Prana Pratishtha
Ram Mandir Prana Pratishtha

Ram Mandir Prana Pratishtha अभी अभी की तस्वीरें तो यहाँ की ये बोल रही है कि लोगों के मन में जो उत्साह है लेकिन अब वह धीरे-धीरे प्रशासन. उन्हें यहां से भी साइड कर दिया गया है. इसलिए घाटों पर भी बहुत भीड़ नहीं है. लेकिन हां जो दीपावली शाम को होने वाली है उसके दीों के ढेर लगा दिए गए हैं और जो लाइटिंग है उसकी टेस्टिंग चल रही है।.बीचबीच में गाने भी बज रहे हैं ताकि ऑडियो के साथ लाइटिंग कर ली जाए और पूरे शहर में जैसा कि तुलसीदास जी ने लिखा है कि सुमन वृष्टि, नवसकुल भवन चले, सुख, कंद.

इतनी सुमन वृष्टि हुई और उसके बाद सुख देनेवाले सुख के कंद भगवान श्री राम सीता जी सहित अपने भवन को चले गए. Ram Mandir Prana Pratishtha चढ़े अटार ने देखें नगर नारी नर वृंद यानी अटारियों पर चढ़कर लोग उनको जाते हुए देख रहे हैं. आज भगवान इसी रूप में रामलला अपने भवन में जाएंगे और नूतन भवन में नूतन धाम में विराजित होंगे.और इस महोत्सव के लिए अब सिर्फ मिनटों में गणना शुरू होगी क्योंकि कुछ ही देर बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जो इस मामले के इस पूरे आयोजन के मुख्य अजमान हैं.

Ram Mandir Prana Pratishtha कोर्ट की कवरेज करतेकरते मामला मामला ज़बान पे चढ़ जाता है. इस आयोजन के मुख्य अजमान है. तो अभी तक जो डॉ. अनिल मिश्री जी इस पूरे मामले को इस पूरे आयोजन के यज थे फिर उन्हें आगे मोदी जी को सौंपेंगे. और देश के प्रधानमंत्री इसके मुख्य अजमान की भूमिका में होंगे. गर्भ गृह में जाएंगे.

Ram Mandir Prana Pratishtha
Ram Mandir Prana Pratishtha

और वहां प्राण प्रतिष्ठा के जो आचार्य गणश्वर जी, द्रविड़ और लक्ष्मीकांत दीक्षित जी के निर्देशन में जो यह सारा कुछ चल रहा है, उनके पूर्वौरोहित में चल रहा है, उसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने यजमान की भूमिका में होंगे. और यजमान की भूम.

रामलल की न्यूतन प्रतिमा में देवत्व का की प्राण प्रतिष्ठा हो जाएगी और इसके यहां कार्यक्रम यह दस बजे से लेकर तक दो घंटे मंगल धनियों का प्रसारण होगा. यहां, अयोध्या में.Ram Mandir Prana Pratishtha जाहिर है कि ये राम की पेढ़ पर भी मंगल धनियांगी और उसके साथ ही जैसे ही प्राण प्रतिष्ठा होगी शंखनाद गूंजेगा. मंगल धनियों के साथ एक बहुत उद्घोष होगा ताकि पूरे ब्रह्मांड को पता चल जाए की ब्रह्मांड नायक रामलला अपने नूतन धाम में प्रवेश कर चुके हैं और प्रवेश के साथ ही उनके विग्रह में है.

अयोध्या आसमान से सभी देवता चंकि जब मैं यहाँ पर आई थी तो तमाम जो महिलाएं थी उनकी ओर ऐसी कहा गया की जब श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम चल रहा होगा तो ऊपर से भगवान भी पुष्प की वर्षा करेंगे.

यह भी पढ़े :

Ayodhya Ram Mandir: 22 जनवरी को घर से करें ये उपाय, आपके घर भी पधारेंगे श्री राम

Ayodhya Ram Mandir: Prana Pratishtha से पहले अयोध्या में भक्तों का जमावड़ा, दर्शन के लिए उमड़ी भीड़

Ayodhya Ram Mandir: प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां लगभग पूरी, फूलों से सजी रामनगरी अयोध्या

Ram Mandir: अयोध्या में लेजर शो का आयोजन, दिखाई भगवान राम की जीवनी

dharati moradiya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *