Polycab share price: पॉलीकैब इंडिया के शेयरों में 22% की गिरावट, आईटी विभाग को 1,000 करोड़ रुपये की अघोषित नकद बिक्री का पता चला

Polycab share price: पॉलीकैब इंडिया के शेयरों में 22% की गिरावट, आईटी विभाग को 1,000 करोड़ रुपये की अघोषित नकद बिक्री का पता चला

Polycab share price: पॉलीकैब इंडिया के शेयरों में गुरुवार को 22% की गिरावट आई। यह गिरावट आयकर विभाग (आईटी) द्वारा कंपनी के परिसरों पर छापेमारी के बाद आई है। आईटी विभाग ने छापेमारी में कंपनी के 50 से अधिक परिसरों की तलाशी ली थी। इस छापेमारी में विभाग को 1,000 करोड़ रुपये की अघोषित नकद बिक्री का पता चला है।

Polycab share price
Polycab share price

आईटी विभाग ने बताया कि कंपनी ने अपने कुछ वितरकों के माध्यम से 1,000 करोड़ रुपये की नकद बिक्री की थी। इस बिक्री का कोई हिसाब-किताब कंपनी के खातों में दर्ज नहीं किया गया था। आईटी विभाग ने कंपनी के खिलाफ आयकर चोरी का मामला दर्ज किया है।

Polycab share price  एक प्रमुख वायर और केबल निर्माता कंपनी है। यह कंपनी भारत में वायर और केबल के बाजार में एक प्रमुख खिलाड़ी है। कंपनी के शेयरों में गिरावट से निवेशकों को भारी नुकसान हुआ है।

आयकर विभाग की छापेमारी

Polycab share price
Polycab share price

11 जनवरी, 2024 को आयकर विभाग ने पॉलीकैब इंडिया के परिसरों पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान विभाग को कंपनी के कुछ वितरकों के माध्यम से की गई 1,000 करोड़ रुपये की अघोषित नकद बिक्री का पता चला।

इस छापेमारी से पॉलीकैब इंडिया के शेयरों में भारी गिरावट आई। कंपनी के शेयर 11 जनवरी को 5,380 रुपये से गिरकर 3,930 रुपये पर आ गए।

Polycab share price में गिरावट के कारण

पॉलीकैब इंडिया के शेयरों में गिरावट के निम्नलिखित कारण हैं:

  • आईटी विभाग द्वारा कंपनी के परिसरों पर छापेमारी: आईटी विभाग द्वारा कंपनी के परिसरों पर छापेमारी से कंपनी की छवि को नुकसान पहुंचा है। इससे निवेशकों में कंपनी के बारे में नकारात्मक धारणा बनी है।
  • अघोषित नकद बिक्री: आईटी विभाग द्वारा कंपनी की अघोषित नकद बिक्री का पता चलने से कंपनी पर आयकर चोरी का आरोप लगा है। इससे कंपनी की वित्तीय स्थिति पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने की आशंका है।
  • शेयर बाजार में गिरावट: शेयर बाजार में गिरावट से भी पॉलीकैब इंडिया के शेयरों पर दबाव पड़ा है।

पॉलीकैब इंडिया के लिए भविष्य की संभावनाएं

Polycab share price
Polycab share price

आईटी विभाग द्वारा कंपनी के खिलाफ आयकर चोरी का मामला दर्ज किया गया है। इस मामले की सुनवाई अभी भी चल रही है। अगर कंपनी को आयकर चोरी का दोषी पाया जाता है, तो कंपनी को भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है। इससे कंपनी की वित्तीय स्थिति पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

हालांकि, कंपनी ने इन आरोपों से इनकार किया है। कंपनी ने कहा है कि वह सभी कानूनों का पालन करती है। कंपनी ने कहा है कि वह आयकर विभाग के साथ पूरा सहयोग करेगी।

Polycab share price अगर कंपनी इन आरोपों से बरी हो जाती है, तो कंपनी की छवि में सुधार हो सकता है। इससे कंपनी के शेयरों में सुधार हो सकता है।

पॉलीकैब इंडिया के शेयरों का विश्लेषण

पॉलीकैब इंडिया के शेयरों का मूल्यांकन करने के लिए निम्नलिखित कारकों पर विचार किया जा सकता है:

  • वित्तीय प्रदर्शन: कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन मजबूत है। कंपनी की आय और लाभ में लगातार वृद्धि हो रही है।
  • बाजार हिस्सेदारी: कंपनी भारत की प्रमुख वायर और केबल कंपनी है। कंपनी की बाजार हिस्सेदारी लगभग 25% है।
  • प्रतिस्पर्धा: कंपनी की प्रतिस्पर्धा तेज है। हालांकि, कंपनी की मजबूत वित्तीय स्थिति और ब्रांड छवि उसे प्रतिस्पर्धा में फायदा देती है।
  • भविष्य की संभावनाएं: भारत में बिजली और बुनियादी ढांचे के क्षेत्र में विकास की संभावनाएं पॉलीकैब इंडिया के लिए अनुकूल हैं।

इन कारकों के आधार पर, यह कहा जा सकता है कि पॉलीकैब इंडिया के शेयरों में लंबी अवधि में निवेश करने की संभावना है। हालांकि, निवेशकों को कंपनी के खिलाफ आयकर विभाग के मामले का ध्यान रखना चाहिए।

निवेशकों के लिए सुझाव

Polycab share price में निवेश करने से पहले निवेशकों को निम्नलिखित बातों पर विचार करना चाहिए:

  • आयकर विभाग द्वारा छापेमारी के मामले का परिणाम
  • कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन
  • कंपनी की बाजार स्थिति
  • कंपनी का प्रबंधन

अगर आयकर विभाग के मामले में कंपनी दोषी पाई जाती है, तो निवेशकों को कंपनी के शेयरों से बचना चाहिए। हालांकि, अगर कंपनी मामले में निर्दोष साबित होती है, तो निवेशकों के लिए कंपनी के शेयर एक अच्छा निवेश हो सकता है।

पॉलीकैब इंडिया के शेयरों में निवेश

Polycab share price
Polycab share price

Polycab share price में निवेश करना एक जोखिम भरा निवेश हो सकता है। कंपनी के खिलाफ आयकर विभाग का मामला अभी भी लंबित है। इस मामले के परिणाम पर कंपनी के भविष्य का निर्धारण निर्भर करेगा।

यदि आप पॉलीकैब इंडिया के शेयरों में निवेश करना चाहते हैं, तो आपको कंपनी के भविष्य के बारे में पूरी जानकारी होना चाहिए। आपको कंपनी के आयकर विभाग के मामले के बारे में भी अपडेट रहना चाहिए।

यह भी पढ़े :

Mukesh Ambani का कहना है कि रिलायंस एक गुजराती कंपनी है, है और रहेगी

Reliance Power Share : अनिल अंबानी की इस कंपनी के शेयर खरीदने की धूम, तीन साल में 1 रुपये से 31 रुपये पर पहुंचा भाव!

Google Maps से $5 – $200 कमाओ | Earn Money With Google Maps

Yes Bank Shares : 150 करोड़ रुपये की NPA से Yes Bank के शेयरों में उछाल, कंपनी पोर्टफोलियो में धमाका

dharati moradiya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *