Ayodhya Ram Temple : राम मंदिर में है राष्ट्रीय की प्राण प्रतिष्ठा, होने वाली है लक्ष्मी की वर्षा…

Ayodhya Ram Temple : राम मंदिर में है राष्ट्रीय की प्राण प्रतिष्ठा, होने वाली है लक्ष्मी की वर्षा…

Ayodhya Ram Temple:नई दिल्‍ली. अयोध्‍या में 22 जनवरी को श्री राम मंदिर का उद्घाटन Ayodhya Ram Temple होने वाला है. सभी तैयारियां अपने अंतिम चरण में हैं. इस ऐतिहासिक कदम के साथ अयोध्‍या पूरी दुनिया में एक पर्यटन नगरी के रूप में विकस‍ित हो जाएगी. इसका फायदा अयोध्‍या के साथ पूरे देश को मिलेगा. राम मंदिर की प्राण प्रतिष्‍ठा के साथ ही देश पर ‘लक्ष्‍मी’ की बारिश भी शुरू हो जाएगी. सिर्फ जनवरी में ही इस कार्यक्रम के होने तक 50 हजार करोड़ रुपये से ज्‍यादा की कमाई होगी.

कनफ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ( कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल का कहना है कि आगामी 22 जनवरी को अयोध्या धाम में श्री राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का दिन Ayodhya Ram Temple हर लिहाज़ से ऐतिहासिक बनने जा रहा है. इसके लिए देशभर में सभी वर्गों के लोगों में बेहद उत्साह और उमंग दिखाई दे रही है|

Ayodhya Ram Temple
Ayodhya Ram Temple

Ayodhya Ram Temple :

यही कारण है कि श्री राम मंदिर की यह तारीख देश में करीब 50 हज़ार करोड़ से ज्‍यादा का Ayodhya Ram Temple अतिरिक्‍त कारोबार सृजित करेगी. व्‍यापारियों ने भी इसकी पूरी तैयारी कर ली है|

श्रीरामजन्म भूमि के नवीन मंदिर में दर्शनार्थियों को रामलला के Ayodhya Ram Temple दर्शन और फिर वापसी की लंबी प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा। हालांकि मेक शिफ्ट स्ट्रक्चर में विराजमान रामलला के दर्शन और वापसी की प्रक्रिया के सापेक्ष दूरी काफी घट गयी है। फिर भी रामलला के दर्शनार्थियों के निकास का जो मार्ग निर्धारित है, उसमें श्रद्धालु गण दर्शन के बाद दक्षिणी द्वार से मंदिर परिसर से बाहर निकल कर परकोटे की परिधि में आएंगे।

इसके बाद वह ईस्टर्न गेट के प्लाजा में आकर परकोटे के Ayodhya Ram Temple  परिक्रमा पथ जो कि करीब आठ सौ मीटर है का चक्कर लगाते हुए पुनः टनल में उतर कर निकास द्वार पर आगे बढ़ सकेंगे। इस परिक्रमा के दौरान श्रद्धालुओं को परकोटे में निर्माणाधीन छह मंदिरों क्रमशः भगवान सूर्य, हनुमान जी, भगवान शिव, माता दुर्गा, माता अन्नपूर्णा व विघ्नहर्ता गणपति के दर्शन भी करने को मिलेंगे। श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र के पदेन न्यासी व भवन निर्माण समिति चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्र ने एक साक्षात्कार में यह जानकारी देते हुए बताया कि परकोटे बहुआयामी बनाने के पीछे यही उद्देश्य रहा कि श्रद्धालुओं की भीड़ को रोटेट कर निकाला जाए जिससे कि भीड़ के दबाव में कोई अप्रिय स्थिति न उत्पन्न हो पाए।

Ayodhya Ram Temple
Ayodhya Ram Temple

निर्माण कार्यों को पूरा करने के लिए समय सीमा नहीं बढ़ाई गयी

अयोध्या भवन निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक के Ayodhya Ram Temple पहले दिन गुरुवार को समिति चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्र ने पहले सम्बन्धित परियोजनाओं का स्थलीय सत्यापन किया। इसके उपरांत दूसरे सत्र में बैठक कर योजनाओं की प्रगति की भौतिक समीक्षा की। इस मौके पर निर्माण एजेंसियों की ओर से टाइम लाइन बढ़ाने की मांग को समिति चेयरमैन मिश्र ने खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि किसी भी दशा में पहले से सूचीबद्ध कामों को पूरा करना जरूरी है। यदि आवश्यक हो तो श्रमिकों की संख्या बढ़ा ली जाए।

रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का कार्यक्रम तय होने के बाद निर्धारित Ayodhya Ram Temple कामों को पूरा करने के लिए सूची तैयार कर उनकी टाइम लाइन तय की गयी थी। इस सूची के कामों को पहला चरण माना गया। इस तरह दूसरे व तीसरे चरण के कामों को भी तय किया गया था। फिलहाल बैठक में मंदिर निर्माण प्रभारी गोपाल राव, तीर्थ क्षेत्र के न्यासी डा. अनिल मिश्र व अयोध्या नरेश विमलेन्द्र मोहन प्रताप मिश्र, सीबीआरआई के पूर्व निदेशक एके मित्तल, युवा साहित्यकार यतीन्द्र मिश्र, पुलिस अधीक्षक सुरक्षा पंकज कुमार, जिलाधिकारी नीतीश कुमार, एडीएम उपाध्यक्ष विशाल सिंह, आर्किटेक्ट आशीष सोमपुरा, डिजाइन एसोसिएट के आर्किटेक्ट जय कानीटकर, एल एण्डटी के पीड़ी वीके मेहता, टीईसी के बीके शुक्ल व आर रमेश सहित अन्य मौजूद रहे।

उतर कर निकास द्वार पर आगे बढ़ सकेंगे। इस परिक्रमा के दौरान श्रद्धालुओं को परकोटे में Ayodhya Ram Temple निर्माणाधीन छह मंदिरों क्रमशः भगवान सूर्य, हनुमान जी, भगवान शिव, माता दुर्गा, माता अन्नपूर्णा व विघ्नहर्ता गणपति के दर्शन भी करने को मिलेंगे। श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र के पदेन न्यासी व भवन निर्माण समिति चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्र ने एक साक्षात्कार में यह जानकारी देते हुए बताया कि परकोटे बहुआयामी बनाने के पीछे यही उद्देश्य रहा कि Ayodhya Ram Temple श्रद्धालुओं की भीड़ को रोटेट कर निकाला जाए जिससे कि भीड़ के दबाव में कोई अप्रिय स्थिति न उत्पन्न हो पाए।

यह भी पढ़े :

Ratan Tata: 86वां जन्मदिन मना रहे है रतन टाटा, जानिए उनकी जिंदगी से जुड़े कई किस्से

Ratan Tata Lifestory : अरबपति कारोबारी से लेकर Ratan Tata ने दरियादिल इंसान बनने की अनूठी कहानी?

Ayodhya Mandir: राम मंदिर के भूतल और पहली मंजिल का काम पूरा, रामलला के सिंहासन को सोने से जड़ने का काम शुरू

Dawood Ibrahim Latest News: दाउद इब्राह‍िम क्‍या मर गया? भाई’ 100% फिट है : शकील का कहना है

 

 

Divya Vachhani

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *