Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाला है कुछ बड़ा!

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाला है कुछ बड़ा!

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर में राम लला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा होने वाली है। यह एक ऐतिहासिक घटना है, जिसका इंतजार देशभर के करोड़ों हिंदू कर रहे हैं।

अयोध्या राम मंदिर का निर्माण 1992 में शुरू हुआ था। 2023 में, सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाया। इसके बाद, मंदिर निर्माण का काम तेजी से शुरू हुआ और अब यह पूरा होने की कगार पर है।

Ayodhya Ram Mandir
Ayodhya Ram Mandir

22 जनवरी को होने वाली प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम सुबह 12:45 बजे शुरू होगा। इस कार्यक्रम में देशभर के कई संत और नेता शामिल होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले हैं।

प्राण प्रतिष्ठा के बाद, राम लला मंदिर देश के सबसे महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों में से एक बन जाएगा। यह मंदिर हिंदू धर्म के लिए एक बड़ी उपलब्धि होगी।

प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। मंदिर परिसर को भव्य रूप से सजाया गया है। मंदिर में भगवान राम, सीता और लक्ष्मण की मूर्तियां स्थापित की जाएंगी। इन मूर्तियों को बनाकर मथुरा से अयोध्या लाया गया है।

Ayodhya Ram Mandir
Ayodhya Ram Mandir

प्राण प्रतिष्ठा के लिए देशभर से लाखों श्रद्धालु अयोध्या पहुंच रहे हैं। मंदिर परिसर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

Ayodhya Ram Mandir प्राण प्रतिष्ठा के बाद, अयोध्या एक नए दौर में प्रवेश करेगी। यह मंदिर हिंदू धर्म और भारतीय संस्कृति के लिए एक नई पहचान बनेगा।

Ayodhya Ram Mandir  में ओवैसी ने किया माहौल खराब

अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने एक बयान दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि राम मंदिर का निर्माण एक झूठ और षड्यंत्र है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर के निर्माण से देश में सांप्रदायिकता बढ़ेगी।

ओवैसी के इस बयान से अयोध्या में माहौल खराब हो गया। हिंदू संगठनों ने ओवैसी के बयान की निंदा की और उन पर देशद्रोह का आरोप लगाया। उन्होंने ओवैसी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की।

Ayodhya Ram Mandir
Ayodhya Ram Mandir

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी ओवैसी के बयान की निंदा की। उन्होंने कहा कि ओवैसी देश में सांप्रदायिकता फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने ओवैसी से देश की अखंडता और सुरक्षा का ख्याल रखने की अपील की।

ओवैसी के बयान के बाद अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। पुलिस ने अयोध्या में धारा 144 लागू कर दी है और बिना अनुमति के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

ओवैसी के बयान को लेकर सोशल मीडिया पर भी बहस छिड़ गई है। कुछ लोगों ने ओवैसी के बयान का समर्थन किया, जबकि कुछ लोगों ने उन पर निंदा की।

ओवैसी के बयान से अयोध्या में माहौल खराब होने की संभावना है। ऐसे में सरकार और प्रशासन को स्थिति पर नजर रखने की जरूरत है।

ओवैसी के बयान की निंदा

Ayodhya Ram Mandir
Ayodhya Ram Mandir

ओवैसी के बयान की कई राजनीतिक दलों और संगठनों ने निंदा की है। भाजपा ने कहा है कि ओवैसी एक विभाजनकारी नेता हैं और वह देश में सांप्रदायिकता फैलाना चाहते हैं। कांग्रेस ने कहा है कि ओवैसी का बयान देश के लिए हानिकारक है।

अयोध्या के सांसद और बीजेपी नेता लल्लू सिंह ने कहा कि ओवैसी के बयान से अयोध्या में माहौल खराब हो रहा है। उन्होंने कहा कि ओवैसी को अयोध्या से दूर रहना चाहिए।

ओवैसी ने कहा कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है

ओवैसी ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है। उन्होंने कहा कि वह राम मंदिर के निर्माण के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन वह इस बात से आपत्ति करते हैं कि यह मंदिर मुसलमानों के खिलाफ एक साजिश के तहत बनाया जा रहा है।

हालांकि, ओवैसी के इस सफाई से हिंदू समुदाय संतुष्ट नहीं है। हिंदू संगठनों का कहना है कि ओवैसी के बयान से अयोध्या में माहौल खराब हुआ है और इसके लिए वह जिम्मेदार हैं।

यह भी पढ़े :

PM Modi की लेटेस्ट तस्वीर देख Kangana Ranaut बोली- आंखें देखो, तेज तलवार से भी ज्यादा…

Ram Mandir Pran Pratistha : प्राण प्रतिष्ठा के दिन खास ड्रेस में होगी पुलिस, पहचान नहीं पाओंगे !

Ayodhya Ram Mandir : सूरत में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा से पहले बना एक और इतिहास

India vs Maldives: भारत से विवाद के बाद पनाह मांगता ‘मालदीव’, China से नजदीकियां बढ़ा रहे मुइज्जू !

dharati moradiya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *