Ayodhya: अयोध्या मंदिर के अंदर Ram Lalla की मूर्ति का पहला लुक सामने आया

Ayodhya: अयोध्या मंदिर के अंदर Ram Lalla की मूर्ति का पहला लुक सामने आया

Ayodhya: 22 जनवरी, 2024 को अयोध्या में राम मंदिर के गर्भगृह में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा होने वाली है। इस समारोह से पहले, राम लला की मूर्ति का पहला लुक सामने आया है।

Ayodhya
Ayodhya

मूर्ति को मैसूर के मूर्तिकार अरुण योगीराज ने बनाया है। यह मूर्ति 51 इंच ऊंची और 35 इंच चौड़ी है। मूर्ति में राम लला को बाल रूप में दिखाया गया है। उनके हाथ में धनुष और बाण है। मूर्ति का चेहरा बहुत ही सुंदर और आकर्षक है।

मूर्ति को 17 जनवरी, 2024 को जन्मभूमि मंदिर परिसर में लाया गया था। मूर्ति को गर्भगृह में स्थापित करने से पहले उसे 125 कलशों के जल से स्नान कराया जाएगा। 22 जनवरी को दोपहर में ‘मृगशिरा नक्षत्र’ में राम लला की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी।

Ayodhya
Ayodhya

प्राण प्रतिष्ठा समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित देश के कई गणमान्य व्यक्ति शामिल होंगे। समारोह का आयोजन राम मंदिर निर्माण समिति द्वारा किया जा रहा है।

राम लला की मूर्ति का पहला लुक सामने आने के बाद देशभर में उत्साह का माहौल है। लोग प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दिन अयोध्या पहुंचने की तैयारी कर रहे हैं।

प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद राम मंदिर देश के लाखों हिंदुओं के लिए एक प्रमुख तीर्थ स्थल बन जाएगा।

मूर्ति के बारे में कुछ दिलचस्प तथ्य

  • मूर्ति को बनाने में लगभग दो साल लगे।
  • मूर्ति को बनाने में 36 टन सफेद संगमरमर का इस्तेमाल किया गया है।
  • मूर्ति को बनाने में लगभग ₹10 करोड़ की लागत आई है।

राम-लला की मूर्ति: अयोध्या के मंदिर के लिए एक प्रतीक

Ayodhya
Ayodhya

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए राम-लला की मूर्ति का निर्माण एक महत्वपूर्ण घटना है। यह मूर्ति हिंदू संस्कृति और धर्म का प्रतीक है और देश भर के लाखों हिंदुओं के लिए एक आस्था का केंद्र बन जाएगी।

Ayodhya मूर्ति का निर्माण

राम-लला की मूर्ति को मैसूर के मूर्तिकार अरुण योगीराज ने बनाया है। मूर्ति 51 इंच ऊंची और 22 इंच चौड़ी है। मूर्ति में भगवान राम को बाल रूप में दर्शाया गया है। उनके हाथ में धनुष और बाण है। मूर्ति को सफेद संगमरमर से बनाया गया है।

मूर्ति को बनाने में लगभग दो साल लगे। मूर्ति को बनाने में 36 टन सफेद संगमरमर का इस्तेमाल किया गया है। मूर्ति को बनाने में लगभग ₹10 करोड़ की लागत आई है।

Ayodhya मूर्ति का महत्व

Ayodhya
Ayodhya

राम-लला की मूर्ति का अयोध्या के मंदिर के लिए कई महत्व है। यह मूर्ति मंदिर के मुख्य आकर्षण के रूप में कार्य करेगी। यह मूर्ति हिंदू संस्कृति और धर्म का प्रतीक है और देश भर के लाखों हिंदुओं के लिए एक आस्था का केंद्र बन जाएगी।

राम मंदिर के लिए मूर्ति का निर्माण एक ऐतिहासिक घटना है। यह मूर्ति हिंदू संस्कृति और धर्म का प्रतीक है। प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद यह मूर्ति देश भर के लाखों हिंदुओं के लिए एक आस्था का केंद्र बन जाएगी।।

मूर्ति के निर्माण से अयोध्या के लिए एक नए युग की शुरुआत हुई है। यह मूर्ति अयोध्या को एक प्रमुख तीर्थ स्थल के रूप में स्थापित करेगी।

मूर्ति के ऐतिहासिक महत्व

Ayodhya
Ayodhya

राम-लला की मूर्ति का निर्माण एक ऐतिहासिक घटना है। यह मूर्ति अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के साथ ही देश के हिंदू समाज के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। यह मूर्ति हिंदुओं के लिए आस्था का केंद्र बनेगी और उन्हें भगवान राम के आदर्शों और मूल्यों से प्रेरित करेगी।

मूर्ति के आध्यात्मिक महत्व

राम-लला की मूर्ति एक आध्यात्मिक विरासत भी है। यह मूर्ति भगवान राम के आदर्शों और मूल्यों को दर्शाती है। यह मूर्ति हिंदुओं को भगवान राम की भक्ति और आराधना करने के लिए प्रेरित करेगी।

Ayodhya मूर्ति के भविष्य

Ayodhya
Ayodhya

राम-लला की मूर्ति हिंदुओं के लिए एक महत्वपूर्ण आस्था का केंद्र बनेगी। यह मूर्ति देश के हिंदू समाज को एकजुट करने में भी मदद करेगी। यह मूर्ति हिंदुओं के लिए एक आध्यात्मिक विरासत भी रहेगी।

Ayodhya निष्कर्ष

राम-लला की मूर्ति अयोध्या के मंदिर के लिए एक ऐतिहासिक घटना है। यह मूर्ति हिंदू संस्कृति और धर्म का प्रतीक है और देश भर के लाखों हिंदुओं के लिए एक आस्था का केंद्र बन जाएगी।

यह भी पढ़े :

‘रामायण’ के लक्ष्मण Sunil Lahri को अयोध्या में नहीं मिल रहा होटल रूम, कहा- श्रीराम ने बुलाया, हो जाएगी व्यवस्था

Ayodhya में भव्य अभिषेक से पहले Arun Govil ने रामायण से अपने गहरे संबंध के बारे में खुलकर बात की

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाला है कुछ बड़ा!

Ram Mandir Pran Pratistha : प्राण प्रतिष्ठा के दिन खास ड्रेस में होगी पुलिस, पहचान नहीं पाओंगे !

dharati moradiya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *